Header Ads Widget

Responsive Advertisement

Ticker

50/recent/ticker-posts

ब्लू प्रिंट किसे कहते है? - Blueprinte kise kahte hai? in Hindi

ब्लू प्रिंट किसे कहते है? - Blueprint kise kahte hai? in Hindi


Blueprint अर्थात हिन्दी मे नील पत्र| आधुकनिकता के युग मे हमे हर रोज़ बहुत सारे नये शब्द सुनने को मिलते है। और एक उत्सुकता बन जाती है की, आखिर ये है क्या? ठीक ऐसे ही एक शब्द आप ने सुना होगा "ब्लू प्रिंट" और आपके मन मे ये ज़रूर सवाल आया होगा की ये Blueprint kise kahte hai? आज Hindi Hints के इस ब्लॉग पोस्ट मे उसी के बारे मे जानने की कोशिश करते है। 


Blueprinte-kise-kahte-hai-in-Hindi


ब्लू प्रिंट क्या होता है?- Blueprint kya hai? Hindi

यह शब्द आप ने अनेक बार सुना होगा आज हम इसी के विषय मे विस्तार से जानेंगे।

आपने देखा होगा की किसी भी विशेष कार्य को साकार करने से पहले उसे किसी कागज़ या सामग्री पर कच्चे स्वरूप मे रचना की जाती है। मतलब किसी काम को सुचारु रूप से करने के लिए उसका आपने दिमाग मे जो योजनाबध्द खाका तयार होता है, और उसे कागज़ पर या किसी वस्तु पर अंकित किया जाता है उसे ही ब्लू प्रिंट कहा जाता है। 

उदाहरण:-

जैसे किसी परीक्षा की गुण पत्रिका Marksheet १०० बच्चों के लिए बनायी गयी है, और भले ही सभी बच्चों को अलग-अलग मार्क्स मिले हो लेकिन सभी की गुण पत्रिका देखने मे एक जैसी होगी, जिसमे बाद मे मार्क लिखे जाते है, तो हम इस गुण पत्रिका के प्राथमिक रूप को ही ब्लू प्रिंट कह सकते है। 

और एक उदाहरण: किसी बिल्डर को बिल्डिंग बनानी है तो पहले वो इंजीनियर के पास जाएगा, और आपने पास उपलब्ध जगह का आकार तथा बिल्डिंग मे अपेक्षित सुविधाओं की जानकारी देगा। तो इंजीनियर कौशल लगाकर एक नक्शा तयार करके देगा। जिस मे Bedroom, Kitchen, Parking, Garden इत्यादि रचनात्मक तरीके से दिखाये जायेंगे।  उसी नक्शे को हम ब्लू प्रिंट कह सकते है। ब्लू प्रिंट को हम समान अर्थी शब्द देना चाहे तो उसे प्रारूप या रूपरेखा कहना  ज्यादा उचित होगा। 

ब्लू प्रिंट के मुख्य पहलू -Blueprint Main Wrist

ब्लू प्रिंट मे विषय की रचनात्मकता प्रदर्शित होती है, अर्थात लघु या विशाल कार्य को बनाने के लिए उसकी छोटी प्रतिकृती बनाइ जाती है। वास्तव मे कार्य कितना भी विशाल हो ब्लू प्रिंट मे उसकी प्रत्यक्ष झलक दिखती है, जिसका पालण करके बाद मे कार्य संपन्न किया जाता है। ब्लू प्रिंट को संपादित करना आसान होता है, इसलिए इसको अंतिम रूप देने के बाद ही कार्य को साकार करने के लिए उपयोग मे लिया जाता है। ताकी बाद मे कोई हेराफेरी ना करना पडे, बड़ा नुकसान ना हो और पछताना ना पड़े। किसी भी कार्य को सरल और सहज बनाने के लिए ब्लू प्रिंट बनाया जाता है। विषय अनुसार हर ब्लू प्रिंट के आपने अलग मानक बिंदु होते है। जैसे नक्शा, चित्र, निशान, मसूदा इत्यादि। 

ब्लू प्रिंट का इतिहास-History of Blueprint

कहते है की Blueprint का जन्म  1842 मे हुआ था। उसे सर जॉन हार्षल नामक व्यक्ति ने एक नीले रंग के पृष्ठ भुमी पर सफेद रेखाओं से पहली बार ब्लू प्रिंट बनायी थी। इसीलिए उस ख़ाके की दिमागी उपज को ब्लू प्रिंट कहा गया। समय के चलते बाद मे इसका विस्तार हुआ और किसी भी कच्चे योजना प्रारूप को ब्लू प्रिंट कहा जाने लगा। लेकिन वर्तमान मे इस शब्द का उपयोग बहुत कम दिखता है। पढ़ाई करनेवाले इंजीनियर , आर्किटेक्ट या आयोजक उसे अब केवल नक्शा, चीत्र या प्रिंट कहकर संबोधित करते है। इसीलिए अगर कोई ब्लू प्रिंट शब्द का उच्चारण करता है तो हम आश्चर्य मे पड जाते है, की ये होता क्या है?

तो आशा करता हूँ की Hindi Hints की Blueprint kise kahte hai? यह पोस्ट आपको ज़रूर पसंद आयी होगी। आप अपनी रे कमेंट बॉक्स में ज़रूर लिखना।  पोस्ट को ध्यान से पढ़ने के लिए दिल से धन्यवाद!

ये भी पढ़िए :

टेस्ट ट्यूब बेबी क्या है?

पतंग कैसे उड़ाए?


एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ