Header Ads Widget

Ticker

50/recent/ticker-posts

Life Time के लिए Best Job कौन सा चुने?

Life Time के लिए Best Job कौन सा चुने?

एक पुरानी कहावत है, उत्तम खेती, मध्यम व्यापार और कनिष्ट नौकरी। लेकिन मित्रों इस लेख को पढने के बाद आप स्वयं तुलना कर सकते है कि Life Time के लिए Best Job कौन सा चुने? Government job या Farming या Business?

Best-Job-Government job-Farming-Business

सरकारी नौकरी-Government job

वर्तमान की गलत शिक्षा पध्दती कारण जीवन जीने के पुरूषार्थ मे भारत का नागरिक कमजोर बन रहा है, इतना कमजोर की खुद का कुछ भी कौशल नही है। लेकिन मशीनें चलाने भी अक्षमता दिखा रहा है। इसलिए हर कोई Life Time के लिए Best JobBest Job समज़कर सरकारी नौकरी की मांग कर रहा है। सरकारी नौकरी मांगने के और भी बहुत सारे कारण है। इसलिए इस क्षेत्र मे बेहद Competition बढ़ गया है। 

पहले सरकार 10 वी पास को भी नौकरी देती थी, लेकिन अब उच्च शिक्षा के बाद भी cet, net ना जाने कितने फिल्टर से गुजरना पड़ता है। ये तो छोड़े मैने सुना है की, 20-25 लाख तक डोनेशन देकर 30-35 हजार वेतन वाली नौकरी करनेवाले कुछ महान लोग भी होते है। मतलब उनकी आधी उम्र तो अपना गया हुआ पैसा वापस निकालने मे गुजरती होगी ना? कितने पागल है लोग नौकरियों के पिछे? जबकि वास्तव में नौकर कभी अपना जीवन जीने के लिए स्वतंत्र नहीं होते। जैसे Businessman और Farmer आपने मर्ज़ी के मालिक होते है, उनको Daily routine मे समय की कोई पाबंदी नही होती। 

ये भी पढ़िए :

छोटे-छोटे व्यवसाय से पैसा कमाओ

बेरोजगार की समस्या 2021

राजनिती मे प्रवेश कैसे करे? 



Government job  में नौकरशाह की Income भी सीमित होती है। जो मिलता है उसी मे गुजारा करना पड़ता है। उससे ज्यादा कुछ चाहते है तो बिना भ्रष्टाचार के कोई मार्ग नही होता, भ्रष्टाचार से लिए पैसों मे देनेवाले के दिल की बददुआ होती है ये दुनिया जानती है। और उसके परिणाम भी देखने को मिलते है, एक सर्वे के अनुसार कर्ज़ में डूबने वालों मे, सबसे ज्यादा नौकरी वर्ग के लोग ही है। कहीं यों की वेतन मे से ब्याज और हफ्ता काटकर इतना कम पैसा हाथ मे आता है कि उससे वो लगभग 15 दिन ही गुजार पाते है।

 खैर छोड़े लेकिन रिटायरमेंट तक किसी ना किसी बॉस के जी हुजूरी में जीना पड़ता है। प्रोमोशन के लिए कितने पापड़ बेलने पड़ते है। और तो और हर दिन हर वक्त "ट्रांस्फर का "डर" भूत बनकर गर्दन पर बैठा रहता है। जान पहचान के कुछ साल बीते नही की फिर नया शहर नये लोग, बच्चों की Education पर भी इसका आसर होता है। वैसे देखा जाये तो आजाद देश मे नौकरी इनसान के लिए एक गुलामी है। अंग्रेजी शासन द्वारा जब प्रशासन चलाने के लिए ऐसे ग़ुलाम चाहिए थे, तो भारत की जनता पर  ज़बरदस्ती करनी पड़ती थी। वरना लोग खेती और व्यापार छोड़ने के लिए राज़ी नही होते। इसलिए अंग्रेजों ने यहाँ की शिक्षा पद्धति ही बदल दी परिणाम देखो आज हर कोई पढ़ा लिखा नौकरी मांग कर ग़ुलाम बनाने के लिए तैयार है। 

तो देख वो इतनी नीच किमत वाली होती है नौकरी। मई तो इसे Life Time के लिए Best JobBest Job नहीं मानता। आप कहेंगे समय बदल गया है लेकिन नही इन्सानी सोच बदल गयी है। आज भी नौकरी निचले कनिष्ट स्थान पर ही है। 

खेती का काम-Farming Job

कृषि प्रधान भारत मे Life Time के लिए सबसे उत्तम Best Job खेती माना जाता था। लेकिन पिछले कुछ सालों मे देश के किसान आत्महात्या करते देखे गये है। तो इसका मतलब ये है कि, समय कि धारा मे खेती अब Best Job नही रहा। 40-50 एकड़ खेत जोतने वाले किसानों के वंशज आज 1-2 एकड़ मे परेशान है। इतनी शारीरिक क्षमता कमजोर हो चुकी है। तथा खेती मे भी सालों साल  मिट्टी की उपजाउता कम होती जा रही है। उसके कारण रासायनिक खाद् पर  ख़र्चा बढ़ रहा है। पारंपरिक बीज तो ग़ायब ही हो चुके है उसकी जगह महंगे संकरित बीज खरिदना पड़ता है। कुल मिलाकर लागत बढ़ने कारण मुनाफ़ा भी घट रहा है। ज्यादातर घाटा भी पड रहा है। तथा साल भर कि मेहनत बेकार जा रही है। नौकरशाह के बाद सब से ज्यादा कर्ज  मे डुबने वाला किसान ही है।

 कुछ किसान तो बेचारे अपनी बेटीयों कि शादी तक नहीं करा पाते है। और ना ही बच्चों को पढ़ा पाते है। नौकरीपेशा को महीना अंत मे कुछ पैसा मिलता तो है। किंतु किसान को साल मे एक-दो बार और उसका भी भरोसा नहीं। साथ मे कृषि मुल्य पर सरकारी नियम के कारण उत्पादन को कम भाव। इसलिए किसान आत्महत्या बढ़ रहे है। ग्लोबल वार्मिंग के कारण मौसम की अनियमितता बढ़ गयी है। और हर साल बारिश कम होती जा रही है। जिसके कारण जमीन का जल स्तर भी नष्ट होता जा रहा है। और बिना पानी के तो Forming होती नहीं। इसलिए खेती को अब नौकरी पेशा से नीचे तीसरे नंबर प्राधान्य दिया जा रहा है। 

Business Job

पूर्वजों द्वारा व्यापार को भले ही मध्यम कहा गया हो, किंतु आज व्यापार सबसे पहले नंबर पर है। अर्थात Best Job है। कुछ लेना बेचना और रोज़ ताज़ा कमीशन कमाना। ये सबसे आसान काम है। लेकिन बढती बेरोजगारी के कारण इसमें भी Competition हो गया है। इसलिए परेशानियों का सामना करना पड रहा है। 

व्यापार मे मेहनत ज्यादा और इनकम कम होते जा रहा है। किंतु आज भी ज्यादा रिस्क वाले या जरूरत वाले वस्तुएँ मुनाफ़ा भी तगड़ा देती है। जैसे कांच बेचना हो, दवाई बेचना हो आदि। 

आजकल होम डिलीवरी का जमाना आ गया है। ग्राहक दुकान में नहीं जाना चाहता व्यापारी को सामान घर पर भेजना पड़ता है। लेकिन उसमें भी ग्राहक Delivery charge देने को राज़ी है।  व्यापारी का कोई घाटा नहीं, डीमांड के हिसाब से अगर व्यापार मे बदलाव किया जाए और बेहतर सेवा दियी जाए तो व्यापार कभी नुकसान नही करवाता। Business मे निवेश, रिक्स, विज्ञापन, काॅम्पिटीशन इतना सबकुछ होने के बावजूद भी, केवल व्यापारी ही जरूरत से ज्यादा कमाने का दम रखता है। अपने सपने पुरे करके उँची जिंदगी जी सकता है। देश के जानेमाने व्यापारी टाटा, अंबानी जैसा आजतक कोई किसान या सरकारी नौकर नही बन सका। ये सच है कि बुद्धि लगाकर ना किया तो व्यापार डुबाता भी है। और किया तो सबसे उँचा लेकर भी जाता है। व्यापार पैसा और प्रतिष्ठा दोनो दिलाता है। 

कुछ लोगों के मुताबिक व्यापार किस्मत से चमकता है। लेकिन मैं कहता हूँ किस्मत के साथ कर्म और बुद्धि का साथ चाहिए। खैर छोड़े लेकिन छोटे से छोटा व्यापारी भी हर दिन पैसे गिनता है। इसके अतिरिक्त वो जब चाहे अपना मन मुताबिक व्यापार घटा बढ़ा सकता है। तथा जगह भी बदल सकता है। अब कृषि प्रधान भारत धीरे धीरे व्यापार प्रधान भी बनता जा रहा है। इसीलिए तो आंदोलन वाले सरकार को हिलाने हेतु हमेशा केवल व्यापार बंद का एलान करते है। 

अंत मे यही कहना चाहूँगा की, कहावत बदल रही है अब उत्तम Business मध्यम Government job और कनिष्ट Forming कहा जा सकता है। ये मेरे अपने विचार है। हो सकता है हर किसी का अपना अलग अनुभव हो, किसी को खेती या नौकरी सर्वोत्तम लगती हो। आप कि क्या राय है Coment Box मे ज़रूर लिखना। और हां Hindi Hints कि पोस्ट Life Time ke lie Best Job kaun sa chune? Government job या Farming या Business? आप को ज़रूर पसंद आयी होगी। पुरा लेख पढ़ने के लिए दिल से धन्यवाद!

ये भी पढ़िए :




एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ