Header Ads Widget

Responsive Advertisement

Ticker

50/recent/ticker-posts

Allopathy की Medicine घर पर कैसे संभाले?

 Allopathy की Medicines घर पर कैसे संभाले? 

दोस्तों 80%लोगों को छिटपुट की बीमारियां आती जाती रहती है। जैसे सर्दी जुकाम, पेट दर्द, सर दर्द, बदन दर्द, जुलाब आदि। और हम इनके प्राथमिक उपचार के लिए सीधे डॉक्टर के पास नहीं जाते बल्कि बाजार मे उपलब्ध मेडिकल से कुछ दवाईयाँ खरीद कर स्वस्थ हो जाते है। लेकिन कभी-कभी एक या दो टैबलेट मे ही बीमारी ठीक हो जाती है। और हम बची हुई दवाई खाते नहीं बल्कि उसकी एक्सपायरी  डेट देख कर घर मे रख देते है। ताकी फिर कभी जरूरत पडे तो खरीदना ना पडे। लेकिन Allopathy की Medicines संभालना भी बड़ी जोखिम का काम होता है उसके लिए कुछ खास सावधानियां लेना जरूरी है। और यह लेख आप को यही Allopathy की Medicine घर पर कैसे संभाले? मार्गदर्शन करेगा। 

Allopathy-Medicines-kaise-sambhale


दवा स्टोर के बारे में क्या  सावधानी जरूरी है? 

हम अगर बीमारी ठीक होने के बाद बची हुई दवाई स्टोर करके के रखने के बारे में सोच रहे है तो उसके लिए कुछ बातों की सावधानी होना बेहद जरूरी है वरना वही Allopathy दवा जहर बनकर हमे नुकसान पहुँचा सकती हैं। 

स्टोर रूम 

 दवा को जहाँ भी हमे संचीत करके रखना है वह जगह बिल्कुल वातानुकुलीत हो अर्थात ज्यादा गर्म या ज्यादा ठंड ना हो। कुछ Tonic या Syrup डार्क चॉकलेटी या ब्राउन कलर्स की बेतल मे आते है। क्योंकि कंपनी उसे सीधे धूप की किरणों से बचाना चाहती है। तो हमे भी इसी का खयाल रखते हुए उसे गर्म जगह से बचाना है। विशेष रूप से आयुर्वेदीक काढा वगैरा को साधारण तापमान वाली जगह पर गी रखना चाहिए। याद रहे कोई भी Medicines फ्रिज मे ना रखे जबतक उसपर स्पष्ट रूप से फ्रिज मे रखने की सूचना ना लिखी हो। कांच की बोतल को बच्चों की पहुँच से दूर रहे तथा सभी दवाईयों को बच्चों की पहुँच से दूर ही रखे तो कोई दुर्घटना नही होगी। 

समाप्ती तिथी-Expiry date

अगर आप Allopathy की दवाईयां को स्टोर कर रहे है तो उसमे खरीदते समय ही उसकी Expiry date की जाँच करें, क्योंकि यह दवाइयाँ केमिकल से बनी होती है तो उसके एक्सपायर होने के बेहद घातक परिणाम हो सकते है। कोई दवाईयो में 3 साल तक की गारंटी होती है। लेकिन वह मेडिकल मे ही 2 साल तक पडी रहने कारण आपको केवल एक साल की ही एक्सपायरी मिलती है। इसलिए कभी भी दवाईयाँ खरीदते समय इस बात. का खास ध्यान रखे की वह फ्रेश Date की हो। मेडिकल या होलसेल विक्रेता तो Expired होने के तीन महीने पहले ही उसे कंपनी से रिटर्न करके वापस नये मंगाते है। इसलिए हमे भी जिस दवा की तारीख केवल तीन महीने बची है उन्हे नहीं खरीदना चाहिए। ऐसी  दवाएँ केवल उसी स्थिति मे खरीदे जहां वह फ्रेश उपलब्ध ना हो या फिर आप को 2-4 दिन मे उपयोग करके खत्म करनी हो। 

Allopathy टैबलेट उपयोग करते समय केवल स्ट्रीप के उसी साइड से लेना शुरू करें जिधर समाप्ती तिथि ना प्रिंट की हो। इससे आप को दवा की खराब होने का समय पता चलेगा। 

ये भी पढ़िए :

उपयोग की सावधानी

भले ही आप ने छोटी-मोटी बीमारियों कि प्राथमिक उपचार के लिए दवाइयाँ स्टोर करके रखी हो लेकिन तबियत की स्थिति को देख तुरंत डॉक्टर के पास जाए वरना गंभीरता बढ़ सकती है। घर पर तभी इलाज करें जब आप को नॉर्मल लक्षण दिखाई देने लगे। दवा लेने के बाद भी एक दिन मे तबियत और खराब हो जाती है। समय गवाना अच्छा नहीं है। जब हमें तबियत खराब होने का कारण पता हो तभी घर पर इलाज करने की कोशिश करनी चाहिए। जैसे ठंडा पानी पीने से सर्दी होना, बासी खाने से पेट मे दर्द होना, जागरण से Acidity वग़ैरा। 

खरीदते समय सावधानी

Online medicine खरीदो या बाजार से, दवा खरीदते समय अगर हम विशेष सावधानी बरतेंगे तो लाभ मिल सकता है।  वरना Allopathy के इस क्षेत्र का हमे ज्ञान ना होने कारण आर्थिक लुट का सामना करना पड सकता है। 

आप किसी की राय लेकर या मेडिकल स्टोर वाले से पूछ कर Medicines खरीदते हो या फिर डॉक्टर ने पहले कभी उसी समस्या पर लिख कर दियी हुई दवा खरीदने जाते हो। लेकिन बहुत बार आप ने जो दवा मांगी है वह नही मिलती बल्कि उसी जैसे नाम और कंटेंस वाली दवा आप को मेडिकल स्टोर वाला बताता है। ऐसा दो कारणों से होता है एक दवाई कंपनी वालों की आपस मे Competition जिसके कारण ज्यादा चलने वाली दवाई एक जैसी बनाते है।

दूसरा मेडिकल स्टोर वाले को दूसरी नयी कॉम्पीटीशन वाली कंपनी ज्यादा मुनाफ़े की लालच देती है। इसलिए वह उसी की दवाई बेचते है। 

अब हमको क्या करना होगा? 

कुछ नहीं आपको जो चाहिए वही दवाई के बजाए 10 जगह पूछ लो और खरिदो या फिर किसी मेडिकल स्टोअर्स वाले को या Pharmacist को अपना अच्छा दोस्त बना लो वही आप को ठीक राय देगा। और यह भी नही कर सके तो फिर डॉक्टर तो है ही बस उनकी फिस चुकाने की तकलीफ़ उठानी पड़ेगी और क्या? 

नाम से Medicine की पहचान कैसे करें? 

 होता ये है की 2-4 महीने मे यह भूल जाते है की कोनसी टेबलेट या दवा किस बीमारी की है। cough syrup जैसे बोतल को हम उसपर के चित्र से पहचान जाते है।  वरना  हम डॉक्टर तो नही है और किसी मेडिकल वाले के पूछने मे शर्म आती है। बस इसी परिस्थिती को संभालने के लिये जरूरी है की हम Medicines के नाम से उपयोग पता करे तो चलिए आगे बढते है। 

इंटरनेट पर सैकडों ऐसी वेबसाइट तथा Apps है जो आपको मेडिसीन के बारे मे एकदम सही जानकारी देते है, जो हम घर बैठे मोबाईल पर देख सकते है। उन्ही मे से हम एक Best website के बारे में आप को सुझाव दे रहे है। जो कोई भी दवा का नाम डालकर उसकी जानकारी प्राप्त कर सकते हैं। विशेष रूप से आप उस जानकारी को आप की अपनी स्थानिक भाषा मे अनुवादित कर के भी पढ सकते हो।  उस वेबसाइट का नाम है Tabletwise.net जिसे खोलने के बाद Home page पर जो सर्च बॉक्स है उसमें आर दवा का नाम डाल दे जिसकी आपको जानकारी चाहिए। सर्च करने पर जो पेज खुलेगा उसमे उपयोग benefits और  side effects के बारे मे संपूर्ण जानकारी मिलेगी। 

आशा करता हुँ मित्रों Hindi Hints डॉट कॉम का Allopathy की Medicines घर पर कैसे संभाले? यह लेख आपको ज़रूर पसंद आया होगा। अगर पसंद आया है तो आप दो काम ज़रूर करना एक अपनी राय कमेंट बॉक्स में अवश्य लिखना तथा दूसरा इस पोस्ट को औरों का ज्ञान बढ़ाने के लिए ज़रूर शेयर करना। आप ने इस लेख को दिल से पढ़ा इसलिए मेरा भी आपको दिल से धन्यवाद!

ये भी पढ़िए :


आधार कार्ड अपडेट (2021) घर बैठे कैसे करें? 

आधार PVC कार्ड  सस्ते मे  घर पर कैसे मंगाये?

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ