Header Ads Widget

Ticker

50/recent/ticker-posts

सोने की कीमत गुणवत्ता से तय होती है - Gold Price decided By Gold Quality in Hindi

सोने की कीमत गुणवत्ता से तय होती है  - Gold price Decided By Gold quality in Hindi

दोस्तों पोस्ट का टाइटिल Short है। सोने की कीमत गुणवत्ता से तय होती है  - Gold Price Decided By Gold Quality in Hindi किंतु इस पोस्ट मे हम सोने के बारे मे बहुत सारी बातें विस्तार से जानेंगे। जैसे

Gold को Gold क्यों कहा जाता है?

सोना कैसे बनता है?

सोना कितने प्रकार का है? 

सबसे अच्छा सेना कौन सा है? 

भारत में सोने की खान कहाँ है? 

Gold Quality से कैसे तय होता है Gold Prisce? 


Gold-Quality-se-Gold-prise

सोने को सोना क्यों कहा जाता है? - Why is Gold called Gold? In Hindi

 जर्मन मुल का ये शब्द Old english से संबंध रखता है Gold इसका एकमात्र नाम नही, हर संस्कृति मे अलग नाम है। जैसे हिन्दी मे सोना मराठी मे स्वर्ण कहा जाता है। 

सारांश मे बताना हो तो जर्मन के गॉथिक भाषा मे शब्द गुल्ला से शुरू हुआ, रोमन मे "ग्लोइंग डॉन" नामसे और बारहवीं शताब्दी के English मे विकसित होने के बाद आज का हमारा गोल्ड शब्द बना।

सोना कैसे बनता है? How is gold made? In Hindi

दोस्तों ऐसी बहुत चीजें होती है जिसे हम उपयोग में तो लेते है लेकिन उसकी तैयार होने की कोई भी प्रक्रिया हमको पता नहीं होती, जैसे साबूदाना कैसे बनता है?, कागज़ कैसे बनता है, सोना कैसे बनता है इत्यादि। यहाँ पर हम सोना कैसे बनता है? इस बारे में जानेंगे। 

सोना खदानों में अकेला या पारा, सिल्वर के साथ घुला हुआ मिलता है। जिसे निकालकर उसके पत्थर और चुर्ण के मलबे पर 48 घंटे के लिए पोटेशियम डायनामाइट डाल देते है। जिससे तरल रूप मे सोना बाहर निकलता है। धोने के बाद अशुद्ध रूप से मिला हुआ सोना फैक्ट्री में बारीक़ बारीक कणों के रूप में पीसा जाता है, फिर इसे पारे की परत चढ़ी हुई प्लेटों से गुजारा जाता है, उसके बाद इसे तब तक गर्म किया जाता है, जबतक पारा गैस बनकर उड़ ना जाए। बचा हुआ सोना शुद्ध स्वरूप होता है।

ये भी पढ़िए :


सोना कितने प्रकार का है? What are the Types of Gold? in Hindi

हमको सभी सोना लगभग एक जैसा दिखता है लेकिन उसके गुणवत्ता के अनुसार अलग-अलग प्रकार पड़ते है अर्थात Gold Quality से  Gold prise तय होती है। जिसका विश्लेषण हमने नीचे है। 

मुख्यता शुद्ध सोना एक ही प्रकार का होता है, जिसे 24 carat gold कहा जाता है।

लेकिन जरूरत अनुसार अन्य धातू मिलाये जाते है आपको पता होना चाहिए की सोने मे कोनसे धातू मिलाये जाते है? सोने में सिल्वर, झिंक, निकेल और कॉपर मिलाया जाता है। इसलिए उसके शुद्धता अनुसार आठ प्रकार मे विभाजित किया गया है।

पहला प्रकार -

99.9% सोना 24 कैरेट का होता है।

 दूसरा प्रकार -

95.8% सोना 23 कैरेट का होता है।

तीसरा प्रकार -

91.6% सोना 22 कैरेट का होता है।

चौथा प्रकार-

87.5% सोना 21 कैरेट का होता है।

पांचवा प्रकार-

75% सोना 18 कैरेट का होता है।

छटा प्रकार-

70.8% सोना 17 कैरेट का होता है।

सातवा प्रकार-

58.5% सोना 14 कैरेट का होता है।

आठवां प्रकार-

37.5% सोना 9 कैरेट का होता है।

सबसे आच्छा सेना कौनसा है?-Which is the Best gold? in Hindi

अगर Gold Price Decided By Gold Quality तो हमें सोना खरीदते समय इस बात का ज्ञान होना ज़रुरी है की सबसे अच्छा  कोनसा होता है? 

सबसे अच्छा और शुद्ध सोना 24 कैरट का होता है, लेकिन इसकी ज्वेलरी नहीं बना सकते, क्योंकि यह बहुत ही मुलायम होता है। 22 कैरेट का सोना ज्वेलरी के लिए उपयोग में लिया जाता है, जिसमें शुद्ध सोना 91.66% होता है। और ज्वेलरी पर 915 हॉल मार्क चिन्ह होता है। दूसरे नंबर पर 18 कैरेट सोना आता है, जिसका उपयोग हिरे(Diamond), मोती, कंकर जडीत आभूषणों के लिए करते है, क्योंकि इसमे मुलायमता कम होने कारण का  काम मे मजबूत होता है। इसकी ज्वेलरी पर 750 हॉल मार्क चिन्हित होता है। क्या आपको पता है सोना परखने वाले पत्थर का नाम क्या है?  सोना परखने वाले पत्थर का नाम पारस पत्थर है जो सूक्ष्म दानेदार होता है, जिसे आम भाषा मे लोग कसौटी कहते है, जिस पर पुराने समय से सोना परखा जाता आ रहा है।

भारत में सोने की खान कहाँ है? Where is the Gold mine in India? in Hindi

देश के प्रमुख सोना उत्पादक के नाम मे सबसे पहले आता है।

हट्टी और उटी नामक खान जो कर्नाटक राज्य में है, जहां से देश का सबसे ज्यादा सोना उत्पादित किया जाता है। लगभग 88.7% सोना यहां से निकाला जाता है।

 कर्नाटक की खदानो में 1700000 टन कच्चा सोना होने का अनुमान है।

इसके बाद दूसरे नंबर पर आता है। आंध्र प्रदेश का नाम यहां ज़िला अनंतपूर मे रामागिरि और चित्तूर तथा पालाच्चूर मे कुछ मात्रा मे सोना पाया जाता है।

तीसरे नंबर पर आता है झारखंड राज्य यहां सिंह भूमि और सोन पाठ घाटी मुख्य उत्पादक के रूप में माना जाता है, इस राज्य से हर साल लगभग 344 किलो सोने का Production किया जाता है।

चौथे नंबर पर आगे आता है केरल राज्य का नाम यहां पुन्ना पूझा और छावियार पूझा नाम की नदी के पास सोना पाया जाता है।

गुणवत्ता से कैसे तय होता है Gold prise? 

एक आम कहावत है "जैसा काम वैसा दाम" सोने के बारे में भी यह  होती है। तो चलिए इस पोस्ट के मुख्य विषय पर प्रकाश डालते है Gold quality Standerd पर आधारित Rate of gold कैसे तय की जाती है देखिये... 

शुध्दता क्वालिटी गणित

 1/24% 1 कैरेट गोल्ड, आप ने आगर 22 carat gold की ज्वेलरी बनायी हैं तो 22 अंक को 24 से भागकर 100 से गुणाकार करें उदा: (22/24)x100= 91.66 आर्थात आपकी ज्वेलरी मे 91.66% शुद्ध सोना है।

क्वालीटी से किमत गणित

मीडिया या न्यूज़ मे  24 कैरेट Gold Qality का Gold prise दिखाया जाता है इसलिए सावधान रहिए और सोना खरीदते समय क्या सावधानी रखे? इसपर ध्यान दे! नीचे Qualityऔर Price का गणित देखे... 

समझ लीजिए 24 कैरेट शुद्ध सोने का भाव Rs 40000 है और आप गहने बनवाने के लिए 22 कैरेट  क्वालिटी ख़रीद रहे हो तो  (40000÷24)x22=36,666.66 रुपए भाव होगा।

ठीक वैसे ही 18 कैरेट सोने की कीमत भी तय होगी। 

(40000÷24)x18= 30,000 रुपए भाव होगा।


शुद्धता के लिए हॉल मार्क

हॉल मार्क शुद्धता-Hallmark purity

37.5 % शुद्ध हॉल मार्क 375

58.5 % शुद्ध हॉल मार्क 585

75.0 % शुद्ध हॉल मार्क 750

91.6 % शुद्ध हॉल मार्क 916

99.0 % शुद्ध हॉल मार्क 990

99.9 % शुद्ध हॉल मार्क 999

Hall mark के ये Numbers सोने की शुद्धता बताते है। 

तो आप ने अब जान लिया होगा की कैसे सोने की कीमत गुणवत्ता से तय होती है - Gold Price Decided By Gold Quality in Hindi

पोस्ट को दिल से पढने के लिए आपका दिल से धन्यवाद! 

आशा करता हूँ की Hindi Hints कि यह पोस्ट आपको पसंद आयी होगी और ज़रूर अपनी राय कमेंट बॉक्स में मुझे बताएँगे।

ये भी पढ़िए :


एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ