Header Ads Widget

Ticker

50/recent/ticker-posts

चाय की लत कैसे छोडे? - How to quit Tea addiction? in Hind

चाय की लत कैसे छोडे? - How to quit Tea addiction? in Hindi


प्रणाम दोस्तों, 

चाय की लत कैसे छोड़े? - How to quit Tea addiction? in Hindi यह लेख इसलिए लिखा है की, जीतना लोग शराब और तम्बाकू से बर्बाद होते है उससे कहीं ज्यादा चाय की लत से होते है। यह पढ़कर आपको हैरानी हो रही होगी। इसे आप हल्के में ना लें नब्बे प्रतिशत से ज्यादा लोग इस लत के शिकार है। फर्क सिर्फ इतना है चाय की आदत से होने वाली बर्बादी Slow poison जैसी है।

 
How-to-quit-Tea-addiction-Hindi



चाय की लत के लक्षण और दुष्परिणाम -Tea addiction side effects

चाय देश के नब्बे प्रतिशत लोगो की जान बन चुकी है। इस आंग्रेजों की मजबूरी को हमने आदरतिथ्य के लिए उपयोग करना शुरू किया वरना पहले गुड़ और पानी से मेहमानों की स्वागत होता था।

स्वागत में पी गयी चाय अब हमारी जिंदगी का जरूरी हिस्सा बन गयी है। सुबह शाम इसके पीने निश्चित समय भी पक्का हो चुका है इसलिए किसी दिन ना पिये तो पागलों जैसी हालत हो जाती है। बेचैनी की कोई सीमा नही बचती। Tea addiction शराब के बराबर असर करती है। नींद ना आना, भूख ना लगना, Acidity, डायबिटीज़ आदि चाय के गंभीर लक्षण देखने को मिलते है। 

आप चाय की लत के नुकसान के बारे में अधिक जानना चाहते है तो मैने इस पर एक स्पेशल आर्टीकल लिखा है आप यहाँ क्लिक करके उसे पढ़ सकते है।

 चाय की लत के कुछ लक्षण - Tea addiction symptoms

चाय का पहला लक्षण है Anxiety अर्थात चिंता। एक जानकारी के अनुसार आत्यधिक चाय पीने वाले व्यक्ति हमेशा बे चैन और चिंता में रहते है। उन्हे हर पल किसी ना किसी सामान्य बात की भी चिंता लगी रहती है। 

चाय की लत का दूसरा लक्षण है, तनाव और घबराहट महसूस होना। जाहिर है की जब व्यक्ति चिंता करता है तो उसे तनाव का सामना करना ही पड़ता है। और जब भी उसे सही समय पर चाय ना मिली तो बेचैनी के साथ उसे घबराहट भी होने लगती है। 

तीसरे नंबर पर Tea addiction लक्षण आता है चाय मे उपलब्ध कैफिन का दुष्परिणाम जो व्यक्ति के नींद चक्र को बिगाड़ कर रख देता है। व्यक्ति को जब सोना चाहिए वो तब जागता है और काम के समय मे थकान के साथ नींद भी आती है। 

चौथा है मुहासे आना जवानी के उम्र में शारीरिक गर्मी के कारण चेहरे पर मुहसों का जमावड़ा होता है, ऐसे में चाय पीने से शारीरिक की गर्मी में और बढ़ौतरी होती है। इसलिए मुंहासों के इलाज में डॉक्टर हमेशा चाय ना पीने की सलाह देते है। 

चाय की लत से बचने के उपाय

चाय की लत से बचने के लिए उसे उसी प्रकार से छोड़ना होगा जिस तरह से हमे वो लगी थी। अर्थात सबसे पहले दिन भर में जितनी भी चाय दोस्त रिश्तेदार पीलाते है उसको कम करना है या टाल नहीं सकते तो उसके बदले दूध, बुस्ट, शरबत आदि की मांग करना है। उसके बाद हमारी नियमित तलफ वाली चाय को समय होते ही शरीर में बेचैनी शुरू होती है तो कुछ अन्य Cold drink वग़ैरा पीकर अपना मन किसी मनोरंजन में लगाना है। 

इस तरह केवल 30 मिनट तक आप चाय टाल सकते हो उसके बाद पी लेना ही बेहतर होगा। लेकिन रोज़ की मात्रा मे 20% कम कीजिए इस तरह 15 दिन तक चलने दे उसके बाद एक घंटा तक टाल दे और बाद में चालीस प्रतिशत चाय कम पिये। एक दिन ऐसा आएगा की आप 4-5 घंटे तक चाय नहीं पीयेंगे तो कुछ महसूस नहीं होगा। और तीरथ की तरह एक चम्मच चाय भी काफी होगी। फिर भी अंत मे थोड़ी बहुत बेचैनी बचती है। उसे सहन करना है और Clear cut चाय बंद कर देना है। वरना उस बेचैनी से बचने की झंजट मे यह लत दोबारा हवी हो सकती है।

वैसे अपनी Milk Tea addiction को आप Black tea में बदल सकते हो और फिर ब्लैक टी की आदत को ग्रीन टी में चेंज कर दो। उसके बाद Green tea addiction आप को लाइफ टाइम नुकसान नहीं  पहुंचाएगी अगर मर्यादा में पियेंगे तो... 

धन्यवाद! मित्रों Hindi Hints कि इस पोस्ट आप ने ध्यान से पढ़ा और चाय की लत कैसे छोड़े? - How to quit Tea addiction? in Hindi इसके बारे में जानकारी हासिल की, ज़रूर आपको इससे कुछ ना कुछ फायदा होगा। आप अपनी राय कमेंट बॉक्स में ज़रूर लिखना।

ये भी पढ़िए :

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ